विशेष बातचीत — भविष्य में रोमांटिक और कॉमेडी फिल्में करना चाहती हूं : हुमा कुरैशी

Spread the love

गैंग आॅफ वासेपुर 1-2, एक थी डायन, बदलापुर, डेढ़ इश्किया, जाॅली एलएलबी 2, काला जैसी अनेक फिल्मों में खुद के उम्दा अभिनय की छाप छोड़ चुकी बोल्ड और ब्यूटीफुल अभिनेत्री हुमा कुरैशी जी टीवी पर प्रसारित होते रियालिटी शो इंडियाज बेस्ट ड्रामेबाज संस्करण तीन से छोटे पर्दे पर दस्तक दी है। इस टेलीविजन रियालिटी शो में हुमा कुरैशी अभिनेता विवेक ओबेराॅय और फिल्मकार उमंग कुमार के साथ जज की जिम्मेदारी निभा रही हैं।

हाल ही में इस टीवी शो के सिलसिले में आयोजित एक प्रेस वार्ता के दौरान हुमा कुरैशी से विशेष बातचीत हुई। इस विशेष बातचीत के दौरान हुमा कुरैशी ने टेलीविजन डेब्यु और अपने फिल्मी कैरियर को लेकर बहुत सारी बातें शेयर की।

सवाल : इंडियाज बेस्ट ड्रामेबाज का हिस्सा बनने पर आप किस तरह अनुभव कर रही हैं?
जवाब : असल में यह एक अलग तरह का अनुभव है। टीवी बहुत ही एक्साईटिंग प्लेटफाॅर्म है। मैं पहली पर टेलीविजन पर रियालिटी शो में जज के रूप में नजर आ रही हूं। इस शो पर भारत के अलग अलग कोनों से 16 ड्रामेबाज आए हैं, और 17वीं मैं हूं। बच्चों का आत्मविश्वास कमाल है।

सवाल : सोनाली बेंद्रे कैंसर की बीमारी के कारण इस शो को लगातार न कर सकीं, इस बारे में आपका क्या कहना है?
जवाब : बच्चे उनको काफी याद करते हैं। हमारी दुआएं उनके साथ हैं और हम दुआ करते हैं कि वह जल्द से जल्द स्वस्थ होकर इस शो में वापसी करें। हम दोनों मिलकर इस शो में काम करें।

सवाल : शो में बालकों की प्रतिभा को आंकने के लिए कोई रणनीति है?
जवाब : कोई रणनीति नहीं। सभी प्रतिभागी बच्चे क्यूट और टैलेंटेड हैं। ऐसे दिल से अभिनय करते हैं, आपके मुंह से अपने आप ही वाह वाह निकलने लगता है।

सवाल : शो में हुमा कुरैशी एक अभिनेत्री के तौर पर नहीं बल्कि एक जज के रूप में सामने आएंगी, इस बारे में सोचकर कैसा लग रहा है?
जवाब : यह काफी रोचक है। इससे पहले मैं कभी भी बिना पटकथा के प्रशंसकों के सामने नहीं आई। असल में यह काफी मजेदार है। हर कलाकार की इच्छा होती है कि उनके प्रशंसक उनको उनके असली रूप में भी देखें। मैंने अपने जीवन में अलग अलग दमदार किरदार निभाये हैं, अब वक्त आया है कि मेरे प्रशंसक जानें कि मैं असल जीवन में किस तरह की हूं।

सवाल : शो के जरिये आप दूसरों को कौन सा संदेश देना चाहेंगी?
जवाब : हर माता पिता को कहना चाहूंगी कि आपके बालकों में कोई ना कोई प्रतिभा छुपी हुई है, उसको केवल बाहर लाने की जरूरत है। इस शो में दो बालक ऐसे भी हैं, जिनकी पहली भाषा हिंदी नहीं है, लेकिन, शो के लिए उन्होंने हिंदी का प्रशिक्षण लिया।

सवाल : आपके हिसाब से बाॅलीवुड में सबसे बड़ी ड्रामेबाज कौन है?
जवाब: मैं खुद ही हूं। बचपन में जब जब भाई के साथ झगड़ा होता था, तो मैं नकली रोना रोती थी। कभी कभी तो घर का सामान तक तोड़ देती थी।

सवाल : आप ने हाल ही में सुपरस्टार रजनीकांत और ममूटी के साथ काम किया, उनके साथ काम करने का अनुभव किस तरह का रहा?
जवाब : शब्दों में बयान करना मुश्किल है

सवाल : आपके परिवार के संबंध में बताएं?
जवाब : मेरा जन्म दिल्ली में हुआ। मेरे पिता सलीम कुरैशी दिल्ली में रेस्टोरेंट मालिक हैं। मेरी मां अमीना कुरैशी गृहिणी हैं। भाई शकिब सलीम का नाम भी फिल्म जगत में हैं।

सवाल : माॅडलिंग से लेकर सिल्वर स्क्रीन तक की यात्रा कैसी रही है?
जवाब : हां, मैं माॅडलिंग के लिए दिल्ली छोड़कर मुम्बई आई। आमिर खान के साथ एक विज्ञापन की शूटिंग के दौरान मेरी मुलाकात अनुराग कश्यप से हुई, जिनको मेरा काम पसंद आया और उन्होंने मुझको एक फिल्म आॅफर की। उस दिन के बाद से यह यात्रा निरंतर जारी है।

सवाल : आप असफलता और सफलता को किस तरह आंकते हैं?
जवाब : सफलता और असफलता एक व्यक्ति के जीवन का हिस्सा हैं। मैंने कभी भी असफलता और सफलता का भूत अपने पर सवार होने नहीं दिया। मैंने अपनी माता से सीखा है कि अच्छे कार्य कभी भी विफल नहीं होते हैं। मैं कर्म के सिद्धांत को मानने वाली युवती हूं, जो मुझको पेशेवर और व्यक्तिगत जीवन दोनों में मददगार रहा है।

सवाल : आप फूडी हो, वजन और ड्रेस को लेकर हमेशा चर्चा में रहती हैं, इस बारे में क्या कहना चाहेंगी?
जवाब : लोग जो भी कहें, मैं वो ही करती हूं, तो मेरे दिल को पसंद होता है।

सवाल : भविष्य में कौन सी फिल्में करना पसंद करेंगी?
जवाब : काॅमेडी और रोमांटिक फिल्में करना पसंद करूंगी। इस जाॅनर में काम करने के लिए बेहद उत्सुक हूं।

जनकसिंह झाला, लेखक गुजराती दैनिक समाचार पत्र फूलछाब में कार्यरत हैं।

Leave a Reply