गृहणियों की छुपी हुई प्रतिभा को मंच दे रहा रियलिटी शो बिग मेम साहब 8 : विनय आनंद

0
87

 

पटना। बिहार, झारखंड और यूपी की गृहणियों की छुपी हुई प्रतिभा को एक शानदार मंच और सम्‍मान दे रहा है रियलिटी शो बिग मेम साहब, जिसका यह आठवां सीजन है। ये कहना है भोजपुरी के मशहूर अभिनेता व टीवी प्रिजेंटर विनय आनंद का। उन्‍होंने आज पटना स्थित गंगा रिसॉर्ट में शूटिंग के दौरान ‘बिग मेम साहब सीजन 8’ के सेट पर बताया कि यह बिहार के लिए अच्‍छी खबर है कि अब इतने बड़े टीवी रियलिटी शो की शूटिंग यहां हो रही है। उन्‍होंने कहा कि ‘बिग मेम साहब सीजन 8’ महिलाओं को समर्पित एक ऐसा मंच है, जहां कंटेस्‍टेंट करोड़ों लोग इसे देख रहे हैं और उन्‍हें एक पहचान दिला रहे हैं।

विनय आनंद ने बताया कि इस शो की प्रसारण बिहार, झारखंड और यूपी में अग्रणी भोजपुरी चैनल बिग गंगा पर होता है। जिसमें सिर्फ ‘बिग मेम साहब सीजन 8’ का टीआरपी रेटिंग 8 रहा है, जो महानायक अमिताभ बच्‍चन के शो केबीसी के बराबर है। टीवी के अलावा इस शो बिग गंगा के ऑनलाइन प्‍लेटफॉर्म पर वर्ल्‍ड वाइड देखा जा रहा है। उन्‍होंने कहा कि पहले भोजपुरी सिनेमा और शोज के बारे में ये धारणा थी कि इसमें मास होता है, मगर क्‍लास नहीं। यकीन मानिये इस बार ‘बिग मेम साहब सीजन 8’ में जो प्रतिभागी आ रहे हैं, क्‍लास से ही आ रहे। उन्‍होंने कहा कि मैंने इस शो को छठे और सातवें सीजन में भी होस्‍ट किया था। यह शो हर सीजन दर सीजन और परिपक्‍व होता जा रहा है।

गृहणियों के टाइलेंट को मिल रहा बड़ा एक्‍सपोजर : रिंकू घोष

सेट पर मौजूद भोजपुरी अभिनेत्री रिंकू घोष ने कहा कि ‘बिग मेम साहब सीजन 8’ उन गृहणियों के टाइलेंट के एक्‍सपोजर दे रहा है, जिनको शादी से पहले अपनी प्रतिभा को दिखाने का मौका नहीं मिला। वे घरेलु मसलों में उलझ कर रह गईं, मगर इस शो में वे खुलकर सामने आ रही है। इसमें उनके परिवार का सपोर्ट भी खूब मिल रहा है। इस शो को देखने के बाद पता चलेगा कि इन गृ‍हणियों में कितना टैलेंट छुपा है चाहे वो एक्टिंग का हो, सिंगिंग का हो, कुकिंग का हो या फिर कॉमेडी का हो। वहीं, भोजपुरी अभिनेत्री मधु शर्मा ने भोजपुरी रीजन से आने वाली गृहणियों के आईक्‍यू लेवल से काफी प्रभावित नजर आयीं।

भोजपुरी गृहणियों का आईक्‍यू लेवल करता है सरप्राइज्‍ड : मधु शर्मा

मधु ने कहा कि भोजपुरी गृहणियों का आईक्‍यू लेवल से हम सरप्राज्‍इड है, क्‍योंकि हम मान लेते हैं कि जिनकी शादी हो गई है, उनको एक्‍सपोजर नहीं मिलने की वजह से आईक्‍यू लेवल कम होगा। मगर ऐसा नहीं है। उन्‍होंने बस अपनी इच्‍छा को दबा कर रखा था, ‘बिग मेम साहब सीजन 8’ उसे बाहर करने का मौका देता है। इस मंच पर तो कई ऐसी भी गृ‍हणियां आईं, जिन्‍हें अपने खुद के टैलेंट के बारे में अंदाजा भी नहीं था। उन्‍होंने बताया कि ‘बिग मेम साहब सीजन 8’ के लिए देशभर से लाखों लोगों ने ऑडिशन दिये,‍ जिसमें से 128 का सेलेक्‍शन हुआ है, जो अपनी छुपी हुई प्रतिभा को दुनिया के सामने बखूबी लेकर हाजिर हैं।