फिल्म पद्मावती को बड़ी राहत, चुनाव आयोग ने खारिज की भाजपा की मांग

Spread the love

मुम्बई। फिल्मकार संजय लीला भंसाली निर्देशित और बहुप्रतीक्षित फिल्म पद्मावती की रिलीज का इंतजार करने वालों के लिए अच्छी और विरोध करने वालों के लिए बुरी ख़बर है कि चुनाव आयोग ने गुजरात भाजपा की उस मांग को खारिज कर दिया, जिसमें फिल्म पर रोक लगाने या इसकी रिलीज डेट आगे बढ़ाने की मांग की गई थी।

टाइम्स नाउ की एक रिपोर्ट के अनुसार चुनाव आयोग ने फिल्म पद्मावती के प्रदर्शन को रोकने से इंकार कर दिया है। उल्लेखनीय है कि भारतीय जनता पार्टी की गुजरात ईकाई के वरिष्ठ नेता आईके जाडेजा ने चुनाव आयोग को पत्र लिखकर फिल्म पद्मावती की रिलीज डेट आगे बढ़ाने या इसको प्रति​बंधित करने की मांग की थी।

भाजपा नेता आईके जाडेजा ने अपने पत्र में राजपूत समाज के विरोध का जिक्र करते हुए कहा था कि फिल्म को गुजरात चुनावों से पहले रिलीज नहीं किया जाए, क्योंकि इसके कारण राज्य की कानून व्यवस्था पर बुरा असर पड़ सकता है।

बता दें कि संजय लीला भंसाली की फिल्म पद्मावती पर इतिहास के साथ छेड़छाड़ करने का आरोप है और इस आरोप के कारण फिल्म से जुड़े लोगों को शूटिंग के दौरान कई बार अप्रिय घटनाओं का शिकार होना पड़ा है।

हालांकि, अभी तक दीपिका पादुकोण, रणवीर सिंह और शाहिद कपूर अभिनीत फिल्म पद्मावती को किसी ने नहीं देखा और निर्माता निर्देशक कह चुके हैं कि इतिहास के साथ किसी भी तरह की छेड़छाड़ नहीं की गई है।

कुछ दिनों पहले सुनने में आया था कि फिल्म पद्मावती के खिलाफ चल रहे प्रदर्शनों को देखते हुए फिल्म निर्माताओं की ओर से फिल्म पद्मावती का 180 करोड़ रुपये का बीमा करवाया गया है।

यदि आने वाले दिनों में भी किसी संबंधित संस्थान और अदालत की ओर से इस फिल्म के प्रदर्शन पर रोक नहीं लगती है, तो यह फिल्म 1 दिसंबर 2017 को रिलीज होगी।