पहलाज निहलानी की सत्ता खत्म, प्रसून जोशी के हाथों में सीबीएफसी की डोर

मुम्बई। फिल्म निर्माता पहलाज निहलानी को केंद्रीय फिल्म प्रमाणन बोर्ड के अध्यक्ष पद से हटा दिया गया है, और उनकी जगह गीतकार प्रसून जोशी लेंगे।

फिल्म जगत से जुड़े अन्य Updates लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook, Twitter और Google Plus पर Join करें।

सूचना और प्रसारण मंत्रालय की ओर जारी बयान के अनुसार प्रसून जोशी तत्काल प्रभाव से सीबीएफसी अध्यक्ष के रूप में पद संभालेंगे, और अगले तीन साल तक या अगले आॅर्डर तक इस पद पर बने रहेंगे।

दरअसल, फिल्म निर्माता पहलाज निहलानी ने जब से सीबीएफसी अध्यक्ष का पद संभाला है, उनका विरोध तब से ही हो रहा है और फिल्मों को लेकर उनका संस्कारी रवैया फिल्मकारों के लिए गले की फांस बन चुका था।

पहलाज निहलानी ने महिला पत्रकार पर जड़े डराने धमकाने और उत्पीड़न के आरोप

हाल ही में फिल्म बाबूमोशाय बंदूकबाज के कट्स को लेकर केंद्रीय फिल्म प्रमाणन बोर्ड चर्चा में आया था, और बोर्ड सदस्यों तथा अध्यक्ष के खिलाफ आईटीएफडीए ने प्रेस सम्मेलन का आयोजन कर मोर्चा खोला था।

गौरतलब है कि 19 जनवरी 2015 में पहलाज निहलानी को केंद्रीय फिल्म प्रमाणन बोर्ड का अध्यक्ष बनाया गया था। फिल्मकार और सीबीएफसी अध्यक्ष पहलाज निहलानी ने हाल ही में फिल्मकारों पर पैसे देकर प्रमाण पत्र हासिल करने के आरोप भी लगाए थे।

एक इंटरव्यू में पहलाज निहलानी ने दावा किया था कि उनके आने के बाद से सीबीएफसी में भ्रष्टाचार कम हुआ है। हर मामले में पहलाज निहलानी का कहना होता था कि फिल्म प्रमाणन बोर्ड ने अपना काम किया है, और निर्माता निर्देशक प्रचार के लिए बोर्ड को बदनाम करते हैं।