दक्षिण छारा की समीर भी सीबीएफसी की कैंची से अछूती नहीं, यहां देखें हार्ड -हिटिंग ट्रेलर

Spread the love

अहमदाबाद बम्ब धमाकों से प्रेरित है दक्षिण छारा की समीर

अहमदाबाद। फिल्म निर्देशक दक्षिण छारा निर्देशित राजनीतिक क्राइम थ्रिलर समीर, जो अंततः 15 सितंबर 2017 को रिलीज होने जा रही है, को रिलीज होने के लिए लगभग छह सात महीने लंबा इंतजार करना पड़ा है।

असल में दक्षिण छारा निर्देशित फिल्म समीर 2016 के अंत में ही बनकर तैयार हो गई थी, लेकिन, फिल्म समीर, जो अहमदाबाद के सीरियल बम्ब धमाकों से प्रेरित है, जैसे ही ​केंद्रीय फिल्म प्रमणन बोर्ड के पास पहुंची तो दिक्कत शुरू हो गई।

तनु वेड्स मनु रिटर्न्स फेम अभिनेता जिशान अयूब, अंजलि पाटिल, सुब्रत दत्ता, सीमा बिश्वास और चिनमय मंडलेकर अभिनीत फिल्म समीर के निर्माातओं को केंद्रीय फिल्म प्रमाणन बोर्ड ने जांच प्रक्रिया के बाद सात कट लगाने की बात कही।

​फिल्म समीर निर्माता निर्देशक ने फिल्म प्रमाणन अपीलीय ट्रिब्यूनल में अपील की, जहां पर बोर्ड द्वारा सुझाये गए सात में से पांच कट तो रद्द हो गए, लेकिन, ट्रिब्यूनल ने छह संवाद उड़ाने और एक सीक्वेंस को छोटा करने को कहा।

हालांकि, निर्देशक दक्षिण छारा कहना है कि इसके बावजूद भी फिल्म समीर का बात करने का तरीका बरकरार है, जो अच्छी बात है। हालांकि, दक्षिण छारा कुछ संवादों पर संबंधित विभाग के एतराज को गलत मानते हैं, जैसे दिल्ली का रास्ता ​यूपी होकर जाता है और मैं मन की बात कहना चाहूंगा।

फिल्म समीर एक भोलेभाले मुस्लिम युवक पर केंद्रि​त है, जो इंजीनियरिंग की पढ़ाई कर रहा है, और उसको आतंकवाद विरोधी दस्ता उठा लेता है। इसके बाद उस पर एक मिशन में शामिल होने का दबाव डाला जाता है, ताकि उसके हमकमरा यसिन को खोजा जाए, जो हैदराबाद और बैंगलुरु धमाकों के पीछे है। और अहमदाबाद में फिर से ऐसा करने से रोका जाए।

फिल्म समीर की शूटिंग अहमदाबाद में की गई है और फिल्म बनाने में दो साल का वक्त लगा, हालांकि, दक्षिण छारा को कहानी साल 2008 में ही क्लिक हो गई थी, जब अहमदाबाद शहर में एक के बाद एक कई बम्ब धमाके हुए थे।