डोनाल्‍ड ट्रंप के खिलाफ गायिका मैडोना का शक्‍ति प्रदर्शन

Spread the love

वाशिंगटन। मैडोना ने देश की राजधानी में एकत्र हुए हजारों प्रदर्शनकारियों को जबरदस्‍त स्‍पीच के साथ महिला मार्च में अपनी मौजूदगी से चौंका दिया।

जोश से भरी मैडोना ने कहा, ‘क्‍या आप मुझे सुन पा रहे हैं? क्‍या आप विश्‍व को हिलाने के लिए तैयार हैं? प्‍यार की क्रांति में आपका स्‍वागत है।’

मीडिया के रिपोर्ट के अनुसार पॉप सिंगर मैडोना ने कहा, ‘आठ नवंबर को ट्रंप की जीत के बाद उन्हें ‘व्हाइट हाउस को ही उड़ा देने का ख्याल आया था’, लेकिन इसकी जगह उन्होंने ‘प्यार भरा व्रिदोह’ करने का फैसला किया।’

मैडोना ने अपने संबोधन में कहा, ‘हां, मैं गुस्से में हूं। हां, मैं आक्रोश से भरी हूं। यहां से हम क्रांति और विद्रोह की शुरूआत करते हैं और महिला होने के नाते अत्याचार के इस नए युग को अस्वीकार करते हैं।’

दरअसल, मैडोना का यह मार्च उन आलोचकों के लिए एक सबक था, जो कह रहे थे कि इस प्रदर्शन में अधिक भीड़ जमा नहीं होगी।

आगे, मैडोना ने कहा ‘भाड़ में जाओ। यह बहुत जरूरी परिवर्तन की शुरूआत है। बदलाव को लोगों और त्‍याग की जरूरत होगी। लेकिन यह क्रांति का मार्क है।’

अपने गुस्से की इसी ताकत के भाव के साथ मैडोना ने ‘राजधानी’ के समीप अपना गीत ‘एक्सप्रेस योरसेल्फ’ गाया और उस पर डांस किया, जहां तड़के से ही प्रदर्शकारी एकत्र हो रहे थे। प्रशासन के अनुसार करीब पांच लाख लोगों ने मार्च में हिस्सा लिया।

रैली के बीच करीब तीन घंटे तक अभिनेत्री स्कार्लेट जोहानसन, एशले जड और अमेरिका फरेरा के साथ ही मशहूर वृत्तचित्र निर्माता माइकल मूर समेत कई वक्ताओं ने नागरिक और मानवाधिकारों की रक्षा की मांग करते हुए ट्रंप की निंदा की।

मूर ने शनिवार को प्रकाशित एक समाचार पत्र को फाड़ दिया, जिसके मुखपृष्ठ पर ट्रंप के शपथ ग्रहण समारोह की खबर थी।

इस महिला मार्च के अलावा पूरे अमेरिका में कई अन्य विरोध मार्च भी आयोजित किए गए। इसी बीच दुनियाभर के शहरों में ट्रंप विरोधी प्रदर्शनकारियों को हिरासत में ले लिया गया। -आईएएनएस/फिल्‍मी कैफे