पनामा मामले में अमिताभ बच्चन ने तोड़ी चुप्पी

86

मुंबई । बॉलीवुड के महानायक अमिताभ बच्चन ने मंगलवार को विदेश की किसी ऐसी जहाजरानी कंपनी के साथ अपने संबंधों से इंकार किया है, जिसका नाम पनामा पेपर के खुलासे में आया है, और अमिताभ को उस कंपनी का निदेशक बताया गया है।

अमिताभ ने एक बयान में कहा, “मैं इंडियन एक्सप्रेस द्वारा बताई गई किसी ‘सी बल्क शिपिंग कंपनी लिमिटेड, लेडी शिपिंग लिमिटेड, ट्रेजर शिपिंग लिमिटेड और ट्रंप शिपिंग लिमिटेड’ कंपनी को नहीं जानता हूं।”

उन्होंने कहा, “मैं कभी इन कंपनियों का निदेशक नहीं रहा हूं। संभव है कि मेरे नाम का दुरुपयोग हुआ है।”

Amitabh Bachchan Aishwarya

अमिताभ ने कहा, “मैं अपने सभी करों का भुगतान करता हूं, जिसमें विदेश में किए गए खर्च पर लगने वाले कर भी शामिल हैं। जो धनराशि मैंने बाहर भेजी है, उनमें कानून का पालन किया है। इसमें देश में कर भुगतान करने के बाद एलआरएस द्वारा भेजी गई राशि भी शामिल है।”

उन्होंने कहा, “इस सबके बाद भी इंडियन एक्सप्रेस की रपट में मेरे ऊपर किसी अवैध गतिविधि में शामिल होने का आरोप नहीं लगाया गया है।”

अंतर्राष्ट्रीय खोजी पत्रकारिता संघ (आईसीआईजे) की तहकीकात पर आधारित और दुनियाभर के 100 से अधिक समाचार माध्यमों द्वारा प्रकाशित ‘पनामा पेपर’ रपट में भारत के 500 लोगों के विदेशों में संदिग्ध आर्थिक गतिविधियों में शामिल होने का आरोप लगाया गया है। इस सूची में अमिताभ और उनकी स्टार बहू ऐश्वर्य राय बच्चन का भी नाम है। (आईएएनएस)