अजय मेहरा निराश तो नहीं करेंगे ?

बॉलीवुड में दिओल परिवार एक अच्‍छा स्‍थान रखता है, इसमें कोई दो राय नहीं। मगर, पिछले लंबे समय से दिओल परिवार के सितारे गर्दिश में हैं। इसका एक मुख्‍य कारण यह भी है कि चमक धमक वाली दुनिया में रहने के बावजूद चकाचौंध से परे है। जैसे धर्मेंद्र ने एक सवाल के जवाब में कहा था, वे अदाकार हैं, वे अपना कार्य करते हैं, प्रमोशन करने वाले नहीं, जो अपने उत्‍पाद को भी बेचने के लिए निकल पड़ें। धर्मेंद्र ही नहीं, पूरा परिवार इस मामले में ऐसा जैसा है। कोई भी प्रमोशन करने के लिए शहर शहर नहीं जाता।

कौन नहीं जानता कि पिछले लंबे समय से सन्‍नी दिओल का समय भी अच्‍छा नहीं चल रहा है। सिंह साहेब द ग्रेट से उम्‍मीद थी, मगर, सिने खिड़की पर डूब गई। सिंह साहेब द ग्रेट तो डूबी। साथ साथ आई लव न्‍यू र्इयर को भी ले डूबी। आई लव न्‍यू ईयर को तो खिड़की पर लाने के लिए सिनेमा संचालकों का साथ नहीं मिला। फिल्‍म चर्चा में तो रही, मगर, विवादों के कारण, जो कंगना राणावत के बयानों से उपजे।

फिल्म जगत से जुड़े अन्य Updates लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook, Twitter और Google Plus पर Join करें।

इसके बाद सन्‍नी दिओल की दूसरी फिल्‍म मोहल्‍ला अस्‍सी की भी दुर्गति हो गई। निर्माता निर्देशकों की आपसी लड़ाई के चक्‍कर में पहले तो फिल्‍म देर से पूरी हुई। और फिर रिलीज होने से पहले ही लीक हो गई। फिल्‍म देखने वालों ने सराहना भी की, और आलोचना भी। इस मामले में सन्‍नी दिओल ने किस तरह की प्रतिक्रियाएं नहीं दी, चुप चाप अपने अन्‍य कार्यों में व्‍यस्‍त रहे

मगर, वर्ष 2016 के दूसरे महीने फरवरी में सन्‍नी दिओल एक बार फिर से पुराने दमखम के साथ नजर आएंगे, जिस लुक के लोग दीवाने थे, जो लुक आज भी लोगों के जेहन में है। मगर, सवाल यह है कि अजय मेहरा के रोल में सन्‍नी दिओल निराश तो नहीं करेंगे। क्‍या हम मान लें कि घायल वन्‍स अगेन, अर्थात अजय मेहरा फिर लोगों के दिलों में छा जाएगा।

फिल्‍म घायल वन्‍स अगेन को लेकर लोगों में उत्‍सुकता तो थी। मगर, इस उत्‍सुकता को फिल्‍म के रिलीज हुए हालिया ट्रेलर ने और बढ़ा दिया। ट्रेलर में सन्‍नी दिओल, अपने पुराने स्‍टाइल में नजर आते हैं, वो ही हावभाव, वो ही क्रोध। उम्‍मीद तो बंध रही है कि अजय मेहरा के रूप में सन्‍नी दिओल एक बार फिर से लोगों के दिलों को जीतने में सफल होंगे।

दिलचस्‍प बात तो यह है कि इस फिल्‍म को सन्‍नी दिओल ने स्‍वयं निर्देशित किया है एवं लेखन में भी योगदान दिया है। फिल्‍म के ट्रेलर में सन्‍नी दिओल ओवर एक्‍शन करते हुए नजर नहीं आते, जो वो पिछले लंबे समय से करते आ रहे थे, जिसके कारण उनकी फिल्‍मों में नकलीपन सा आ जाता था।

जैसे गोविंदा को कॉमेडी में दोहराव लेकर बैठ गया था, उसी तरह सन्‍नी दिओल के करियर को अत्‍यधिक शक्‍तिशाली दिखना। घायल वन्‍स अगेन का ट्रेलर देखकर साफ नजर आ रहा है कि अजय मेहरा एक बिजनसमैन के जुल्‍म एवं अत्‍याचार के खिलाफ इंसाफ के हक में लड़ाई लड़ रहे हैं।

भारत में बनने वाली 90 फीसद फिल्‍में एक दो विषयों के इर्द गिर्द घूमती हैं, जैसे पुरानी फिल्‍मों में अभिनेता एवं अभिनेत्री पेड़ों के इर्दगिर्द। मगर, कभी कभी किसी कहानी का प्रस्‍तुतिकरण दिल को छू जाता है। कभी कभी फिल्‍म का कलाइमेक्‍स मोहकर लेकर जाता है। कभी कभी डायलॉग इतने मोह लेते हैं कि हमको विलेन के डायलॉग भी बोलने में मजा आता है, ओह सांबा, कितने आदमी थे।
घायल वन्‍स अगेन का पहला ट्रेलर दो माह पहले से रिलीज किया गया था, जिसको 35 लाख के करीब लोगों ने देखा, जबकि 17 दिसंबर को रिलीज किए नए ट्रेलर को 35 हजार से ज्‍यादा लोग केवल शुरूआती दस घंटों के भीतर देख चुके थे।

सन्‍नी दिओल ने फिल्‍म की तारीख़ को खिसका कर जब फरवरी में किया, तो फिल्‍म की उत्‍सुकता को बनाए रखने के लिए तीसरा ट्रेलर रिलीज किया गया, जो पहले दो ट्रेलरों का मिक्‍स अप था। यह ट्रेलर भी काफी पसंद किया गया। एक नजर से देखा जाए तो फिल्‍म की डेट को आगे बढ़ा कर सन्‍नी दिओल ने अच्‍छा किया, क्‍योंकि रंजीत कटियाल का जादू लोगों के सिर चढ़कर बोल रहा है। ऐसे में अजय मेहरा का जादू फीका पड़ने की संभावनाएं अधिक थी।

इतना ही कहेंगे कि इस ट्रेलर को पसंद ही नहीं बल्‍कि शेयर भी किया जा रहा है। यकीनन, ट्रेलर काफी बेहतर है। अगर, अब भी आप के मन में सवाल है कि अजय मेहरा निराश तो नहीं करेंगे ? मेरा उत्‍तर तो शायद ‘नहीं करेंगे’ है, बाकी पर्दा उठने के बाद पता चल ही जाएगा।